ब्रेकिंग न्यूज़
राज कपूर की आरके स्टूडियो में लगी आगपीएमजी ने शुभांरभ किया मोतिहारी में 'माई स्टांप' काउंटर, बनाइए अपनी तस्वीर का डाक टिकटगोलियों से थर्राया कल्याणपुर का इलाका, पुलिस व बदमाशों के बीच घंटों मुठभेड़निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान का प्रमोशन, कैबिनेट मंत्री पद की ली शपथमोदी कैबिनेट : सभी नये चेहरे राज्यमंत्री और धर्मेंन्द्र, पीयूष, निर्मला व मुख्तार को प्रमोशनआज ब्रिक्स सम्मेलन में भाग लेने चीन रवाना होंगे पीएम मोदीमंत्रिमंडल में शामिल होने वाले सांसदों ने की प्रधानमंत्री से मुलाकातमोदी कैबिनेट विस्तार पर नीतीश का बड़ा बयान, हमलोगों को नहीं है कोई जानकारी
झारखंड
माओवादियों के आत्मसमर्पण के बाद न्याय के लिए पुलिस के पास पहुंची किस्मती
By Deshwani | Publish Date: 14/4/2017 4:14:54 PM
माओवादियों के आत्मसमर्पण के बाद न्याय के लिए पुलिस के पास पहुंची किस्मती

गुमला। माओवादी के मोस्ट वांटेड नकुल यादव और मदन यादव के आत्मसमर्पण करने के बाद क्षेत्र के लोग भयमुक्त होने लगे हैं। इसका ताजा उदाहरण अहले सुबह बिशनपुर थाना में देखने को मिला। यहां उग्रवाद प्रभावित बोरहा गांव की एक नाबालिक बच्ची ने बिशुनपुर थाना में आकर पुलिस को अपनी आपबीती बताई जो रोंगटे खड़े कर देने वाली थी। 

बच्ची ने पुलिस को बताया कि करीब डेढ़ वर्ष पूर्व गांव में मीटिंग घर नकुल यादव ने पूरे गांव के लोगों से बच्चे देने की मांग की थी। बच्चे नहीं देने पर लोगों को जान से मारने की धमकी भी दी गई थी। जिस कारण कई लोगों ने अपना-अपना बच्चा दे दिया। उसी में एक गांव की नाबालिक बच्ची किस्मती कुमारी भी शामिल थी। जिनकी किस्मत ही खराब थी। उसने बताया कि माओवादी उसे अपने साथ ले गए और उससे 3 गुना अधिक उम्र के 45 वर्षीय लोहरदगा निवासी अनिल उरांव के साथ जबरन उसकी शादी करा दी। किस्मती ने बताया कि नक्सली द्वारा ले गए अन्य छोटी बच्चियों के साथ हैं दूसरे माओवादी सदस्य जबरदस्ती उनके साथ दुष्कर्म भी किया करते थे। किस्मती ने बताया कि शादी के बाद उसके पति ने उसके साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाया। जिससे डेढ़ माह पूर्व उसका एक बेटा भी हुआ है। बच्चे को अच्छी परवरिश मिले इसके लिए वह संगठन से भागकर अपने घर में रहने लगी। उसने जैसे ही पता चला कि नकुल और मदन ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया वह बिशुनपुर थाने में आकर अपनी आप बीती पुलिस के सामने सुनायी। थाना प्रभारी मुनीलाल लाल राणा ने कहा कि घटना की जानकारी मिलने के बाद जच्चा और बच्चा का इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिशनपुर में कराया जा रहा है, जिसके बाद उसे सीडब्ल्यूसी में भेज दिया जाएगा। 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS