राज्य
राज्य के सीमाई क्षेत्रों के गांव को मॉडल बनाने की योजना
By Deshwani | Publish Date: 12/1/2018 12:34:25 PM
राज्य के सीमाई क्षेत्रों के गांव को मॉडल बनाने की योजना

इटानगर (हि.स.)। अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने कहा है कि राज्य में 45 सीमाई ब्लॉक और 53 गांव में से कम से कम एक गांव को सीमा क्षेत्र विकास कार्यक्रम (बीएडीपी) के तहत मॉडल गांवों के रूप में विकसित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने लिकाबाली स्थित 56 इन्फैन्ट्री डिवीजन के जीओसी व ब्रिगेडियर एके बोरा और मेजर जनरल भास्कर कलिता के साथ गुरुवार को मुलाकात के दौरान बातचीत करते हुए उपरोक्त बातें कही।

 
खांडू ने कहा, 'इन गांवों का विकास, संबंधित क्षेत्रों में तैनात कमांडिंग अधिकारियों के परामर्श से जिला उपायुक्तों द्वारा योजनाओं को तैयार किया जाएगा। यह भी तय किया गया है कि पैर सस्पेन्शन पुल और गश्त के मार्गों के साथ रास्तों का निर्माण भी अगले वित्तीय वर्ष के दौरान, बीएडीपी के तहत सेना द्वारा तय होने वाली प्राथमिकता के अनुसार किया जाएगा।'
 
बातचीत के दौरान, मेजर जनरल कलिता ने मुख्यमंत्री को अरुणाचल के युवाओं के लिए लिकाबाली में आगमी 2-8 फरवरी को सेना भर्ती रैली के बारे में बताया और जिसमें राज्य के विभिन्न स्थानों के इच्छुक उम्मीदवारों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया है।
 
उन्होंने कहा कि लगभग 350 पदों के लिए अब तक 420 लोगों ने पंजीकरण कराया है। जीओसी ने राज्य सरकार के समर्थन की अपील करते हुए कहा कि स्थानीय युवाओं के लाभ के लिए राज्य के विभिन्न स्थानों पर कम से कम एक बार दो-तीन वर्ष में इसी तरह की रैलियों का आयोजन किया जाए।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS