बिहार
सीआरपीएफ हवलदार हत्याकांड में पांच माओवादियों को फांसी
By Deshwani | Publish Date: 25/5/2017 4:07:09 PM
सीआरपीएफ हवलदार हत्याकांड में पांच माओवादियों को फांसी

मुंगेर,  (हि.स.)। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव का मतदान शुरू होने के चार घंटा पूर्व सूर्योदय के पूर्व बारूदी सुरंग विस्फोट करने और गोलीबारी कर सीआरपीएफ के दो हवलदाराें की हत्या और 10 अन्य जवानों को घायल करने की घटना में मुंगेर के प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ज्योति स्वरूप श्रीवास्तव ने गुरुवार को पांच माओवादियों को हत्या के आरोप सहित अन्य अपराध में फांसी की सजा सुनाई है। न्यायालय ने प्रत्येक को 50-50 रुपये का अर्थदंड भी दिया।

सरकार की ओर से अभियोजना पक्ष प्रस्तुत करनेवाले अधिवक्ता सुशील कुमार सिन्हा ने गुरुवार को बताया कि जिन पांच माओवादियों को फांसी की सजा सुनाई गई है। उनमें जमुई के लक्ष्मीपुर थाना के चैकिया गांव के रत्तू कोडा, मुंगेर के हवेली खड़गपुर थाना के घोघला डीह गांव के बिपिन मंडल और पहाड़पुर गांव के अधिक लाल पंडित लखीसराय के कजरा थाना की बरमसिया गांव के बानो कोडा के अलावा इसी गांव के मन्नू कोडा शामिल हैं।
उल्लेखनीय है कि वर्ष 2014 में 10 अप्रैल को लोक सभा चुनाव के दिन मतदान सम्पन्न कराने चुनाव-दल को लेकर मतदान केन्द्र की ओर जा रही सीआरपीएफ की टुकड़ी पर गंगटा-जमुई मार्ग में सवा लाख बाबा के नजदीक सशस्त्र माओवादियों ने अंधाधुंध गोलीबारी की और बारूदी सुरंग विस्फोट किया था। इस हमले में सीआरपीएफ के हवलदार सोमे गौड़ा और हवलदार रविन्द्र कुमार राय की उपचार के दौरान मौत हो गई, जबकि 10 अन्य जवान जख्मी हो गए थे।
 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS