झारखंड
विद्यालय चलें-चलायें अभियान सिर्फ रस्म अदायगी न हो: सरयू राय
By Deshwani | Publish Date: 18/4/2017 3:52:54 PM
विद्यालय चलें-चलायें अभियान सिर्फ रस्म अदायगी न हो: सरयू राय

खूंटी, (हि.स.)। राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री और विद्यालय चलें-चलायें अभियान के जिला प्रभारी सरयू राय ने कहा कि विद्यालय चलें चलायें अभियान राज्य सरकार का सबसे प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों में से एक है। सघन नामांकन अभियान तभी सार्थक होगा, जब इसमें प्रतिबद्धता झलके। कार्यक्रम सिर्फ रस्म अदायगी न हो। मंत्री मंगलवार को खूंटी प्रखंड के डुमरदगा स्थित राजकीयकृत उत्क्रमित मध्य विद्यालय में सघन नामांकन अभियान की शुरूआत करने के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे। मंत्री ने मौके पर छात्र-छात्राओं के बीच स्कूल बैग और पाठ्य सामग्रियों का वितरण भी किया। स्कूल के रजिस्टर में स्वयं कई बच्चों का नामांकन किया। 

उन्होंने कहा पिछले दो-तीन साल के अंदर राज्य में शिक्षा का स्तर काफी सुधरा है। खूंटी के उपायुक्त काफी अनुभवी हैं। माध्यमिक शिक्षा निदेशक रह चुके हैं। जिले को उनके अनुभव का लाभ मिलेगा। अभियान को लेकर हर मंत्री और विधायक को एक-एक जिले की जिम्मेवारी दी गयी है। उन्होंने कहा कि मंत्रियों के कार्यक्रम में शामिल होने से लोगों को प्रोत्साहन मिलता है। मंत्री ने अधिकारियों को चेताया कि उपलब्धियों का विज्ञापन देकर संतुष्ट न हो जायें। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गरीबों की हित में बेहतर काम कर रही है। कि शिक्षा से संबंधित कार्यक्रम परामर्शी के माध्यम से कराये जा रहे हैं। इसका कुछ हिस्सा विद्यालयों को दे दिया जाये, तो परिणाम और बेहतर होगा। राष्ट्रीय बागवानी बोर्ड के सहयोग से हर गाव में फलदार वृक्ष लगाने का काम शुरू किया जायेगा। 
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डीसी मनीष रंजन ने कहा कि इस वर्ष केजी से इंटर तक नामांकन और विद्यालयों में बच्चों के ठहराव के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। 10 से 26 अप्रैल तक विशेष नामांकन अभियान चलाया जा रहा है। खुशी की बात है कि जिले की 87 पंचायतों में 27 पंचायतें जीरो ड्रॉप आउट हैं। अर्थात इन पंचायतों में कोई भी बच्चा स्कूल से बाहर नहीं है। इस पंचायतों में 26 अप्रैल को सफेद झंडा फहराया जायेगा। जिला शिक्षा अधीक्षक सुरेश चंद्र घोष ने कहा कि जिले में 22354 बच्चे स्कूलों से दूर हैं। इस वर्ष उनका विद्यालयों में नामांकन कराना है। उन्होंने कहा कि केजी में 9254 व पहली कक्षा में 11777 बच्चों का नामांकन कराना है। डीएसई ने कहा कि 1523 ड्रॉप आउट बच्चे हैं। इनका भी नामांकन स्कूलों में कराया जायेगा। मौके पर जिला शिक्षा पदाधिकारी भलेरियन तिर्की, एसडीओ प्रणव कुमार पाल, बीडीओ सुधीर कुमार, बीईईओ इंद्रजीत कुमार, प्रभारी शिक्षिका आभा लकड़ा सहित काफी संख्या में अभिभावक और अन्य उपस्थित थे। मौके पर स्कूल के बच्चों ने एक से एक मनोरंजक कार्यक्रम प्रस्तुत कर लोगों का मन मोह लिया।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS