बिहार
तपमान बढ़ा, विकराल हुई पानी की समस्या
By Deshwani | Publish Date: 31/3/2017 4:48:36 PM
तपमान बढ़ा, विकराल हुई पानी की समस्या

प्रतीकात्मक फोटो

जमुई/चकाई, (हि.स.)। पिछले कुछ वर्षों से सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, पेयजल समेत अन्य मूलभूत समस्याओं को दूर कर राज्य को एक विकसित राज्य बनाने हेतू लगातार प्रयासरत है। बावजूद चकाई प्रखंड क्षेत्रवासियों की समस्याएं घटने का नाम नहीं ले रही है।

आज प्रखंड क्षेत्र की अधिकांश आबादी जिन प्रमुख समस्याओं से त्रस्त है वह है पेयजल। ज्यों-ज्यों तापमान बढ़ता जा रहा है लोगों के बीच पेयजल की समस्याएं गंभीर होती जा रही है। चाहे वह प्रखंड मुख्यालय का क्षेत्र हो या फिर ग्रामीण क्षेत्र। इसका एक महत्वपूर्ण कारण यह है कि सरकार द्वारा संपूर्ण प्रखंड क्षेत्र में हाल के वर्षों जितने भी चापाकल गाड़े गये हैं, उसमें अधिकांश खराब हो चुके हैं और शोभा की वस्तु बनकर रह गए हैं। जिसे विभाग द्वारा मरम्मत करने में तत्परता नहीं दिखायी जा रही है। जिस कारण आम जनता कुआं सुखने के बाद चापाकल पर ही आश्रित रहती है और तो और कई प्राथमिक व मध्य विद्यालय में खराब पड़े चापाकल के कारण भीषण गर्मी में बच्चे प्यास बुझाने को विद्यालय छोड़ गांव के घरों की ओर रुख करने को बाध्य है।
प्रखंड के मुख्य प्रमुख चौक-चौराहों में एक बासुकीटांड़ मोड़ में पेयजल की स्थिति और भी भयावह है। इस चौक पर देवघर जमुई व सिमुलताला देवघर से आने जाने वाले हजारों यात्री हर रोज चढ़ते उतरते है, लेकिन इस चौक पर एक भी चापाकल नहीं रहने से इन यात्रियों को पेयजल के लिये जूझना पड़ता है। स्थानीय ग्रामीणों ने जनता की इस प्रमुख समस्या के बाबत चकाई विधायक सावित्री देवी से क्षेत्र में बढ़ते पेयजल संकट को दूर करने की मांग की है। 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS