बिहार
जमुई की 83 सिंचाई योजनायें ख़राब पड़ीं, नहीं मिलता पानी
By Deshwani | Publish Date: 12/6/2017 4:23:07 PM
जमुई की 83 सिंचाई योजनायें ख़राब पड़ीं, नहीं मिलता पानी

जमुई, (हि.स.)। खेतों में हरियाली व किसानों के चेहरे पर मुस्कान लाने के उद्देश्य से चकाई प्रखंड में शुरू की गयी लिफ्ट एरिगेशन प्रोजेक्ट खराब पड़े हैं, जिससे जल संरक्षण नहीं हो पा रहा है। जबकि इस योजना पर अब तक करोड़ों रुपये खर्च किये जा चुके हैं ।

वर्ष 1980-90 के दशक में जिले को सुखाड़ से बचाने के लिये डीपीएपी स्कीम शुरू की गयी थी। इस दौरान नदियों की पानी को उलीच कर आसपास की उपजाऊ जमीन को सिंचित करने की योजना बनाई गयी। इसके तहत लघु सिंचाई विभाग द्वारा जिले में कुल 83 सिंचाई योजनायें बनवायी गयी थी। 29 स्कीम सिर्फ चकाई प्रखंड में शुरू की गई। लेकिन आज की तारीख में एक भी स्कीम ऐसी नहीं है जिससे एक इंच भी जमीन की सिंचाई हो सके। कमोवेश यही हाल सोनो, झाझा, सिकंदरा, गिद्धौर, लक्ष्मीपुर, बरहट, खैरा एंव अलीगंज का है। कुछ पर बिजली लाईन भी लगवाये गये लेकिन अभी की भौतिक स्थिति ली जाय तो पंप हाउस बदहाल है।
दिनेश पासवान, संजय साह, संजीव साह, पींकु वर्णवाल, झगरु यादव , रामदेव पासवान, सुभाष राय, छोटू दुबे, मो समीम समेत दर्जनों किसानों का कहना है कि अगर ये सारे लिफ्ट एरिगेशन को चालू करवा दिया जाये तो इसके क्षेत्र में पड़ने वालें सैंकड़ों गांवों की हजारों एकड़ जमीन पटवन हो सकता है। खेतों की सिंचाई होने से पैदावार भी बढ़ जायेगा। 
इस संबंध में कनीय अभियंता संतोष कुमार से पुछे जाने पर बताया कि जमुई जिले में कुल 83 लिफ्ट एरिगेशन स्कीम है जिसमें 29 स्कीम अकेले चकाई प्रखंड में है, लेकिन एक भी चालू नहीं है। बंद पड़े स्कीम को चालू करने के लिए विभाग द्वारा पहल की गई है, सरकार के पास रिर्पोट भेजा गया है।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS