झारखंड
25 हजार युवाओं को नियुक्ति पत्र वितरण एक छलावा : सुबोधकांत सहाय
By Deshwani | Publish Date: 12/1/2018 8:41:01 PM
25 हजार युवाओं को नियुक्ति पत्र वितरण एक छलावा : सुबोधकांत सहाय

रांची, (हि.स.)। पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने राष्ट्रीय युवा दिवस पर 25 हजार युवाओं को नियुक्ति पत्र वितरण को छलावा करार दिया है। सहाय ने सरकार से पूछा है कि इसमें सरकारी नौकरियां कितनी हैं। कहा कि राज्य में पहले युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए कौशल विकास प्रशिक्षण के नाम पर भारी अनियमितता बरती गयी है। करोड़ों रुपये का भुगतान वैसी कंपनियों और संस्थानों को कर दिया गया, जिनके द्वारा युवाओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के बजाय, सिर्फ प्रशिक्षण को लेकर खानापूर्ति की गयी। इसके बाद आनन-फानन में गड़बड़ियों को छिपाने के उद्देश्य से मेगा प्लेसमेंट ड्राइव का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि रांची के खेलगांव में आयोजित मेगा प्लेसमेंट ड्राइव के दौरान खुलकर युवक-युवतियों ने सच्चाई को बताने का काम किया। उन्होंने कहा कि स्कील समिट 2018 के नाम पर करोड़ों रुपये खर्च किये गये, देश-दुनिया से लोगों को बुलाया गया और यह दावा किया जा रहा है कि रोजगार पाकर युवा बहुत खुश है। लेकिन सच्चाई यह है कि जिस तरह से निजी कंपनियों की ओर से छह से 10 हजार रुपये के मानदेय पर बेंगलुरु, अहमदाबाद, दिल्ली और कोलकाता जैसे बड़े शहरों में युवाओं को काम करने के लिए दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है, वह दुःखद है। इससे युवाओं में भारी रोष व्याप्त है। सहाय ने कहा कि पांच-सात हजार रुपये के मानदेय पर युवाओं को राज्य से पलायन करना, कहां तक उचित प्रतीत होता है। उन्होंने राज्य सरकार से मांग की है कि स्किल समिट के नाम पर राज्यभर के जिन युवाओं को रोजगार देने का दावा किया जा रहा है, उन्हें किन कंपनियों में नौकरी दी गयी, उनकी सेवा कहां ली जाएगी और कितना वेतन मिलेगा, इस संबंध में सरकार को श्वेत पत्र जारी करनी चाहिए, ताकि पूरी सच्चाई सामने आ सके।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS