झारखंड
जंगली हाथियों का उत्पात, चट किया धान, तोड़े मकान, एक घायल
By Deshwani | Publish Date: 12/1/2018 8:32:46 PM
जंगली हाथियों का उत्पात, चट किया धान, तोड़े मकान, एक घायल

बोकारो, (हि.स.)।बालीडीह ओपी क्षेत्र अंतर्गत मानगो में एवं आसपास के इलाके में जंगली हाथियों के झुंड ने काफी उत्पात मचाया। गुरुवार देर शाम जंगली हाथियों के धमकने से लोग रात भर जागने को विवश रहे। ग्रामीणों की मदद से वन विभाग के लोग हाथियों के गांव से खदेड़ने में सफल तो रहे, लेकिन हाथी जाते-जाते उत्पात मचा गये। सूचना मिलने के बाद चास वन विभाग के वनपाल पदाधिकारी संतोष कुमार, रेंजर अशोक कुमार तथा वनरक्षी मानगो पहुंचे तथा ग्रामीणों को हाथियों से छेड़छाड़ नही करने को कहा। गुरुवार देर शाम पांच की संख्या में दामोदर नदी समीप गांव पहाडपुर होते हुए पंचायत में घुसे। हाथियों के अचानक गांव मे घुसने की बात जंगल में आग की तरह फैल गयी। नतीजतन जो जहां था वहीं ठहर गया। साथ ही बाजार भी समय से पूर्व बंद हो गया। हाथियों ने जाते-जाते जरीडीह प्रखंड के शाहीटुंगरी में तारालाल सोरेन को जख्मी कर दिया व धान खा गया। हाथियों के गांव घुसने से कोई भारी क्षति तो नहीं हुई, लेकिन खलिहान मे रखे कुछेक किसानों के घान चट कर गया।पीड़ित किसान झलका मांझी ने बताया कि सात बजे करीब एक हाथी उसकी खलिहान में आया तथा धान खाने लगा उसे भगाने के लिए आग लगाई तो हाथी धान को छींटने लगा। इसी दौरान आग खलिहान मे लग गयी। उन्होंने बताया कि 10-12 मन धान हाथी खा गया। इसी प्रकार दशरथ मुर्मू का 6 मन, रामप्रसाद का 5 मन, खाने के बाद कलाली चौक की ओर होते हुए हाथियों का झुंड तांतरी चला गया, जहां अडडा मध्य विद्यालय की दीवार तोड़ते हुए तोताडीह नहर पुल हो शाहीटुंगरी होते जैना पंचायत की ओर हाथी चले गये। जैना पंचायत में मिश्रा साइड के दो लोगों घरों की दीवालो को तोडने के बाद जैना बस्ती निवासी लक्ष्मण मांझी आलू के खेत से होते हुये पेटरवार प्रखंड के बाराकेन्डुवा की ओर हाथियों का दल निकल गया। बताया जाता है कि सभी जगह एक ही हाथी के पांव का निशान पाया गया, जो झुंड से भटका प्रतीत होता है। दूसरे दिन सुबह इलाके मे कौतूहल व भय का माहौल बना हुआ था।

COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS