झारखंड
झारखंड में तंबाकू का उपयोग 11.2 प्रतिशत घटा : रामचंद्र
By Deshwani | Publish Date: 5/12/2017 6:37:01 PM
झारखंड में तंबाकू का उपयोग 11.2 प्रतिशत घटा : रामचंद्र

रांची, (हि.स.)। स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि आज झारखंड में पहले की अपेक्षा तंबाकू के उपयोग में 11.2 प्रतिशत की कमी आयी है। हालांकि पहले झारखंड में 50.1 प्रतिशत लोग तंबाकू का सेवन करते थे। आज यह आंकड़ा 38.9 प्रतिशत हो गया है। यह हमारे राज्य के लिए खुशी की बात है। रामचंद्र चंद्रवंशी मंगलवार को सूचना भवन में तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम के तहत आयोजित द्वितीय वैश्विक वयस्क तम्बाकू सर्वेक्षण के झारखंड से संबंधित आंकड़ों के विमोचन में बोल रहे थे। 
उन्होंने कहा कि तंबाकू का उपयोग राज्य के लिए चिंता का विषय है। पान मसाला, गुटखा, जर्दा पर बैन लगाने के लिए विधानसभा में प्रस्ताव लाया जायेगा। इसके लिए मंत्री ने अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि आज तंबाकू के सेवन से गला, मुख और फेफड़े आदि के कैंसर का खतरा रहता है। इससे रक्त की कमी, हृदय रोग, नपुंसकता सहित अन्य बीमारियां होती हैं। हमें इससे बचने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि आज ग्लोबल एडल्ट टोबैको सर्वे (गेट्स-2) की ओर से 2016-17 का आंकड़ा जारी किया गया है। पहले की तुलना में खपत घटी है। राज्य में खैनी और गुटखा सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला तंबाकू उत्पाद है। 26.6 प्रतिशत वयस्क खैनी का इस्तेमाल करते हैं और 8.3 प्रतिशत वयस्क गुटखा का उपयोग करते हैं। राज्य में बीड़ी पीने वाले 5.2 प्रतिशत से अधिक और सिगरेट पीने वाले 6.5 प्रतिशत हैं। 
उन्होंने कहा कि तंबाकू उत्पादों के पैकेटों पर स्वास्थ्य चेतावनियों के बारे में लिखकर और सरकार मीडिया के माध्यम से लोगों को जागरूक करती है। राज्य में धुआं रहित तंबाकू और धूम्रपान करने वाली तंबाकू के उपयोग से होने वाले नुकसान के बारे में लोगों में जागरूकता आयी है। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन (एनआरएचएम) के समग्र ढांचे के भीतर, तंबाकू नियंत्रण रणनीतियों को अन्य राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रमों के साथ मुख्यधारा में लाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने राज्य के 24 जिलों में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के राष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण कार्यक्रम (एनटीसीपी) को लागू किया है। 
इस मौके पर टाटा इंस्टीट्यूट के डॉ निलेश ने बताया कि वर्तमान में झारखंड में 59.7 प्रतिशत पुरुष और 17 प्रतिशत महिलाएं तंबाकू के सेवन कर रही हैं। शहरी क्षेत्र में तंबाकू का सेवन करने वाले पुरुषों का औसत 33 प्रतिशत है जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में यह औसत 41 प्रतिशत है। कुल मिलाकर झारखंड में 38.9 प्रतिशत लोग तंबाकू का सेवन कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि झारखंड में 26.6 प्रतिशत लोग खैनी, 8.3 प्रतिशत गुटखा, 6.5 प्रतिशत लोग सिगरेट, 5.2 प्रतिशत लोग बीड़ी, 4.9 प्रतिशत लोग पान के साथ तंबाकू का सेवन कर रहे हैं। इस अवसर पर डॉ सुमन्त मिश्रा, अरूण कुमार झा, कृपानंद झा, दीपक मिश्रा सहित अन्य लोग उपस्थित थे। 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS