ब्रेकिंग न्यूज़
मुजफ्फरपुर से रक्सौल व नरकटियागंज तक रेल परिचालन शुरू, 7 दिनों बाद सभी गाड़ियां होंगी रेगुलर.कोई भारत की तरफ आँख भी नहीं उठा सकता, हमारे पास विश्व के सबसे बहादुर सैनिक : राजनाथ सिंह.डोकलाम विवाद का सकारात्मक हल निकलेगा: राजनाथ सिंहश्रीलंका ने भारत के सामने रखा 217 रनों का लक्ष्य, अक्षर पटेल ने लिये 3 विकेटअमित शाह ने की शिवराज की तारीफ, कहा- बीमारू प्रदेश को विकास के रास्ते पर ले आयेमुजफ्फरनगर ट्रेन दुर्घटना में क्षतिग्रस्त ट्रैक पर आज रात 10 बजे तक ट्रेनों का संचालन संभव होगामुजफ्फरनगर रेल हादसाः मेरठ लाइन पर शाम 6 बजे तक ट्रेनें रद्द, कई ट्रेनों का रूट बदला गयाकई निर्दोष लोगों की जान लेनेवाला एके 47 जब्त, दीपक पासवान व मुन्ना पाठक सलाखों के पीछे
झारखंड
विकास का मकसद सबका कल्याण : राज्यपाल
By Deshwani | Publish Date: 10/8/2017 8:54:05 PM
विकास का मकसद सबका कल्याण : राज्यपाल

बोकारो,  (हि.स.)। 'विकास का मकसद सबका कल्याण है। सभी की उन्नति में ही राज्य व राष्ट्र की प्रगति निहित है। स्वास्थ्य, शिक्षा, महिला-सशक्तीकरण, कौशल-विकास जैसे कार्य अगर पूरी सच्चाई के साथ हों तो आने वाले दिनों में झारखंड जैसा पिछड़ा राज्य देश की सबसे धनी राज्यों में शुमार होगा। इस राज्य में 26 भाग आदिवासी रहते हैं और भी बहुत से पिछड़े वर्ग के लोग रहते हैं, जिनके मूलभूत विकास के साथ-साथ उनके वित्तीय उठाव की जरूरत है।' उक्त बातें झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने गुरुवार को बोकारो स्थित ओएनजीसी सीबीएम परिसंपत्ति कार्यालय परिसर में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कही। 

बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेदकर की अर्द्ध प्रतिमा के अनावरण तथा आईटीआई के 63 छात्रों के बीच पाठ्यसामग्री वितरण के बाद अपने संबोधन में उन्होंने ओएनजीसी द्वारा सीएसआर के तहत किये जा रहे विकास-कार्यों की सराहना की। साथ ही, निगमित सामाजिक दायित्व (सीएसआर) के कार्यों को और व्यापक बनाते हुए ओएनजीसी द्वारा एक आदर्श प्रस्तुत करने की अपील की, ताकि अन्य प्रतिष्ठान तथा लोक व निजी उपक्रम भी इससे प्रेरणा ले सकें। ओएनजीसी को झारखंड व बोकारो के लिये एक वरदान बताते हुए महामहिम ने कहा कि पेट्रोलियम व तेल-उत्पादन के साथ-साथ ऊर्जा के क्षेत्र में ओएनजीसी अहम भूमिका निभा रहा है और देश के विकास को गति देने के लिये ऊर्जा काफी महत्वपूर्ण है। कुशल भारत, कौशल भारत के नारे को साकार करने में यह महती भूमिका निभा रहा है। 
राज्यपाल ने सीएसआर के तहत चयनित 63 आईटीआई छात्रों को पाठ्य-सामग्री प्रदान कर उन्हें शुभकामनायें दीं तथा एक सामर्थ्यवान व अच्छा नागरिक बनने की प्रेरणा दी। वहीं, समतामूलक समाज की स्थापना में बाबा साहेब डा. भीमराव अंबेदकर के अवदानों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए उन्हें सही अर्थों में समाज का प्रेरक व मार्गदर्शक बताया। साथ ही, उनके विचारों के अनुपालन का संदेश दिया। इसके पूर्व ओएनजीसी के निदेशक (अभितट/आन शोर) वेदप्रकाश महावर ने बाबा साहेब की अच्छाई को ग्रहण करना ही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि बतायी। उन्होंने ओएनजीसी की गतिविधियों, निवेश-योजना तथा भावी कार्यों पर विस्तार से चर्चा की। समारोह की आयोजक संस्था अखिल भारतीय ओएनजीसी अनुसूचित जाति/जनजाति कर्मचारी कल्याण संघ के अध्यक्ष पीआर मिल्ली ने रोजगार-सृजन, सांस्कृतिक-विकास, स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वच्छता आदि के क्षेत्र में ओएनजीसी के कार्यों पर प्रकाश डाला। 
डीजीएम विनोद कुमार चौधरी ने बोकारो क्षेत्र में सीबीएम परियोजना संबंधी गतिविधियों के साथ-साथ सामाजिक विकास पर प्रस्तुतीकरण के जरिये वृहत जानकारी दी। सीबीएम परिसंपत्ति प्रमुख नवीनचंद्र पांडेय ने बाबा साहेब की जीवनी पर संक्षिप्त चर्चा करते हुए कुरीतियों से समाज को उबारने का संदेश दिया तथा ओएनजीसी की गतिविधियों, कार्य-प्रणाली तथा योजनाओं पर विस्तार से प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन डीजीएम नेयाज अहमद शफी ने किया। मौके पर उत्तरी छोटानागपुर प्रक्षेत्र के डीआईजी प्रभात कुमार, बोकारो के उपायुक्त राय महिमापत रे, पुलिस अधीक्षक वाईएस रमेश, बोकारो स्टील प्लान्ट के सीईओ पीके सिंह, जिला परिषद अध्यक्ष सुषमा देवी आदि मुख्य रूप से मंचस्थ थे। समारोह के दौरान राज्यपाल ने सीबीएम दर्पण नामक ओएनजीसी के गृह-पत्रिका के दूसरे अंक का विमोचन किया तथा सीएसआर के तहत दो एंबुलेन्स की चाबियां भी प्रदान कीं।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS