ब्रेकिंग न्यूज़
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद नागपुर के दीक्षाभूमि पहुंचेभारत ने अफगानिस्तान के लिए 116 परियोजनाओं की घोषणा कीपीएमजी ने शुभांरभ किया मोतिहारी में 'माई स्टांप' काउंटर, बनाइए अपनी तस्वीर का डाक टिकटगोलियों से थर्राया कल्याणपुर का इलाका, पुलिस व बदमाशों के बीच घंटों मुठभेड़निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान का प्रमोशन, कैबिनेट मंत्री पद की ली शपथमोदी कैबिनेट : सभी नये चेहरे राज्यमंत्री और धर्मेंन्द्र, पीयूष, निर्मला व मुख्तार को प्रमोशनआज ब्रिक्स सम्मेलन में भाग लेने चीन रवाना होंगे पीएम मोदीमंत्रिमंडल में शामिल होने वाले सांसदों ने की प्रधानमंत्री से मुलाकात
झारखंड
खुलेआम बिक रही है डेन्ड्राइट, स्कूली बच्चे हो रहे हैं शिकार
By Deshwani | Publish Date: 23/7/2017 11:19:48 AM
खुलेआम बिक रही है डेन्ड्राइट, स्कूली बच्चे हो रहे हैं शिकार

 गुमला, (हि.स.)। घाघरा प्रखंड मुख्यालय सहित कई गांवों के नाबालिग बच्चें डेन्ड्राइट नशा की आगोश में डूबते चले जा रहे हैं। इसका खुलासा तब हुआ जब टंगरा टोली गांव की तेतरी उरांइन घर में अपने बेटे सुनील उराव (08) द्वारा करीब चार हजार रुपये की चोरी कर अन्य दोस्त आशिक उरांव (10) के साथ घाघरा आया। इसका पीछा करते तितरी जब घाघरा पहुंची तो दोनों बच्चो के पास से डेन्ड्राइट की तीन पैकेट देखा, साथ ही दोनों बच्चे हल्के नशे में थे। मां ने जब दोनों को डांट-डपट किया तो बच्चों ने बताया कि वे चांदनी चौक के किसी दुकान से डेन्ड्राइट की खरीदारी 120 रुपये में तीन पैकेट की है। यहां बता दें कि दानों बच्चे छात्र है। बच्चे खुलेआम इस आगोश में डूब रहे हैं। सबसे बड़ी बात तो यह है कि बच्चे इस नशा के लिए पैसे नहीं रहने पर अपने घरों से पैसे तक की चोरी कर ले रहे हैं। प्रखंड मुख्यालय के कई दुकानों में जहर रूपी डेन्ड्राइट नाबालिग बच्चों को दुकानदार खुले आम बेच रहे हैं, ताकि उनका मुनाफा हो सके। 

इस खुलेआम बिक्री के कारण बच्चे नशे में इतना खो जा रहें है कि गांव से करीब तीन किलोमीटर तक पैदल आकर डेन्ड्राइट की घाघरा में खरीदारी कर रहे हैं। अगर प्रखंड प्रशासन द्वारा कोई सार्थक पहल नहीं होगी तो आने वाले समय में बच्चों का जीवन संकट में पड़ जायेगा। सबसे बड़ी बात तो यह है कि यह नशा आदमी को अंदर ही अंदर खोखला कर देता है। 

COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS