झारखंड
स्थाई कार्यपालक पदाधिकारी के नहीं रहने से कार्य प्रभावित
By Deshwani | Publish Date: 1/5/2017 2:08:04 PM
स्थाई कार्यपालक पदाधिकारी के नहीं रहने से कार्य प्रभावित

गढ़वा। मझिआंव नगर पंचायत कार्यालय में स्थायी एवं नियमित कार्यपालक पदाधिकारी के स्थापना नहीं होने से नगर पंचायत क्षेत्र में संचालित प्रधानमंत्री आवास एवं शौचालय निर्माण सहित कई जनकल्याणकारी योजनाओं की गति पर ग्रहण लगता दिखाई दे रहा है। जिससे विकास योजनाओं पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। 

गौरतलब है कि नगर पंचायत क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में प्रधानमंत्री आवास सह शौचालय निर्माण का कार्य चल रहा है। लेकिन समय से राशि का भुगतान नहीं होने के कारण खासकर प्रधानमंत्री आवास योजना धरातल पर नहीं उतर पा रही है। विभागीय उदासीनता के कारण अभी तक लाभुकों का विकास कार्य के अनुरूप राशि का भुगतान नहीं हो सका है। 
 
जानकारी के अनुसार, कांडी के बीडीओ सह मझिआंव नगर पंचायत कार्यालय के प्रभारी कार्यपालक पदाधिकारी गुलाम समदानी ने एक सप्ताह पूर्व से मझिआंव नगर परिषद् कार्यालय में योगदान दिए थे। तब से नगर पंचायत कार्यालय में विभिन्न योजनाओं से संबंधित अभिलेखों के कार्यों का निष्पादन किया जा रहा था लेकिन उनके यहां नहीं रहने के कारण कार्य पर प्रतिकूल असर पड़ रहा है। नगर पंचायत उपाध्यक्ष सुनिता देवी ने कहा कि जब तक नगर पंचायत कार्यालय में स्थायी कार्यपालक पदाधिकारी की स्थापना नहीं की जाती है विकास कार्य पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। उन्होंने उपायुक्त डॉ नेहा अरोड़ा से नगर पंचायत कार्यालय में नियमित और स्थायी कार्यपालक पदाधिकारी की पदस्थापना कराने की मांग की है।
 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS