झारखंड
सांसद व विधायक का भी पेंशन बंद हो : शिक्षक संघ
By Deshwani | Publish Date: 5/8/2017 7:23:51 PM
सांसद व विधायक का भी पेंशन बंद हो : शिक्षक संघ

दुमका, (हि.स.)। झारखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ का एक दिवसीय धरना-प्रदर्शन शनिवार को कोर्ट परिसर में किया। धरना कार्यक्रम अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक संघ के आह्वान पर पूरे देश मे आयोजित होने के क्रम में तीसरे चरण में दुमका में आयोजित हुआ जिसमें पुरानी पेंशन योजना लागू करने की मांग की गई। धरना कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मीडिया प्रभारी श्यामल किशोर सिंह गांधी ने कहा कि पुरानी पेंशन वालों के लिए पीपीएफ सुविधा उपलब्ध है।जबकि नई पेंशन योजना में पीपीएफ नहीं है।पुरानी पेंशन के लिए कोई वेतन में कटौती नहीं होती, जबकि नई पेंशन योजना में प्रतिमाह 10 प्रतिशत कटौती निर्धारित है।उन्होंने कहा कि पुरानी पेंशन योजना के तहत सेवानिवृत्त लाभ अंतिम वेतन का 50 प्रतिशत की गारंटी है, वहीं नई पेंशन योजना में कितनी राशि मिलेगी यह निश्चित नहीं है।मीडिया प्रभारी श्री सिंह ने वर्तमान पेंशन योजना को पूरी तरह शेयर मार्केट एवं बीमा कंपनी पर निर्भर है।पुरानी पेंशन सरकार देती है, तो नई पेंशन बीमा कंपनी देगी।पुरानी पेंशन योजना के अनुसार सेवाकाल मे मृत्यु होने पर लाभुक परिवार को 20 लाख रुपये मिलना तय है।पुरानी पेंशन योजना वाले को पीपीएफ से आसानी से लोन सुविधा है, जबकि नई पेंशन योजना को कोई सुविधा नहीं है।

संघ जिला अध्यक्ष रसिक बास्की ने मांगे पूरी नहीं होने तक, हक की लड़ाई लड़ने के लिए लोगो से अपील की।प्रधान सचिव विश्वनाथ गोराई ने आंदोलन को तेज करते हुए सीएम और संसद भवन घेराव की चेतावनी दी।संघ नेता बाल किशोर कापरी ने 2004 से नियुक्त कर्मचारियों के पेंशन से वंचित है। उसी तर्ज पर सांसदों एवं विधयकों के पेंशन भुगतान पर रोक लगाने की मांग की।कार्यक्रम को गोपाल प्रसाद सिंह,दिनेश हेम्ब्रम, दिलीप झा, कैथरीन हेम्ब्रम, पूनम भगत आदि ने संबोधित किया। इस अवसर पर प्रणति काहली, विजय साह, विजय मरांडी, जेम्स सुशील हांसदा, जेवियर आशीष, गणेश प्रसाद साह, कृत्यानंद सिंह आदि उपस्थित थे। 

 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS