झारखंड
नेटवर्क नहीं रहने से ई-पोश मशीन बना डब्बा
By Deshwani | Publish Date: 23/6/2017 8:22:43 PM
नेटवर्क नहीं रहने से ई-पोश मशीन बना डब्बा

दुमका, (हि.स.)। झारखंड में दुमका जिले के रामगढ प्रखंड के महुबना, कौआम, सिन्दुरिया, लखनपुर, बडीरणबहियार, नौखेता, ठाडीहाट, सुसनियां सहित दर्जनों पंचायत के जनवितरण दुकानदार तथा कार्डघारियों के लिए लिए ई-पोश मशीन जी का जंजाल साबित हो रही है। ई- पोश मशीन में नेटवर्क नहीं रहने के कारण उपभोक्ताओं को प्रतिदिन दुकान का चक्कर लगाना पड़ रहा है। जबकि सुदूर क्षेत्रों के कुछ दुकानदार नेटवर्क के लिए दुकान से आठ से दस किलोमीटर की दूरी पर पहाड़ या टील्हे पर जाकर मशीन का संचालन कर रहे है। शुक्रवार को महुबना पंचायत के सरूआपानी के जनवितरण विक्रेता को अपनी दुकान से करीब पांच किलोमीटर दूर कौआम पहाड़ी पर मशीन संचालन करते हुए देखा गया। इन दुकानदारों द्वारा उपभोक्ताओं को वही बुलाकर आधार स्कैनर पर अंगुठा लगवाया जाता है। तब जाकर दूसरे दिन दुकान से खाद्यान्न की आपूर्ति की जा रही है।

इस प्रकार उपभोक्ताओं के साथ-साथ दुकानदारों को अनाज लेन-देन मे दो दिन का समय लग रहा है। सरकार द्वारा रामगढ़ प्रखंड में मई माह के अंतिम सप्ताह में जनवितरण दुकानों में ई-पोश मशीन से अनाज वितरण की व्यवस्था लागू की गई है। इसके लिए विजनटेक कंपनी द्वारा सभी दुकानों में मशीन लगाने के साथ ही विक्रेताओं को प्रखंड मुख्यालय में तीन दिवसीय प्रशिक्षण भी दिया गया है। बगैर सर्वेक्षण के लगा दी गई मशीन: कंपनी द्वारा दुकानों की भौगोलिक स्थिति का सर्वे कराए वगैर मशीन लगाने के कारण ऐसी स्थिति का सामना उपभोक्ताओं को करना पड़ रहा है। मालुम हो कि नियमानुसार प्रखंड मे आसानी से नेटवर्क उपलब्ध होने वाले क्षेत्रों मे ऑनलाइन एवं दुर्गम तथा पहाड़ी क्षेत्रों में पार्सियल मशीन देने का प्रावधान है। मगर सर्वे कराए वगैर दर्जनों पहाड़ी क्षेत्रों की दुकानो मे भी ऑनलाइन मशीन दिए जाने के कारण ऐसी स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। शुक्रवार को लखनपुर पंचायत के हथियापहाडी तथा कुरूमटांड के सैकड़ों कार्डधारियों ने बीडीओ से मिलकर परेशानी से अवगत कराया है। 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS