बिहार
बिहार में बदले माहौल में मुश्किल से पांच विधायक दोबारा जीत पायेंगे :दिलीप चौधरी
By Deshwani | Publish Date: 11/8/2017 7:59:23 PM
बिहार में बदले माहौल में मुश्किल से पांच विधायक दोबारा जीत पायेंगे :दिलीप चौधरी

पटना,  (हि.स.)| बिहार कांग्रेस विधानमंडल दल की बैठक में प्रदेश उपाध्यक्ष एवं विधान पार्षद दिलीप चौधरी ने पार्टी को मजबूत करने का उपाय करने की सलाह के साथ आगाह किया है कि बदली राजनीतिक परिस्थिति में कांग्रेस के 27 विधायकों में मुश्किल से 5 दोबारा जीत कर आ पायेंगे। 

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी का दूत बन यहां आये पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष एवं सांसद जयप्रकाश अग्रवाल से कई कांग्रेसी विधायकों ने सदाकत आश्रम में अलग-अलग मिलकर गठबंधन की बजाय पार्टी को अकेले अपने पैरो पर खड़ा होकर चलने और प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी को तत्काल हटाने की मांग की। बैठक में राजनीतिक प्रस्ताव कर महागठबंधन से अलग होकर भाजपा से हाथ मिलने को लेकर जनादेश का अपमान करने के आरोप के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की निंदा की। अक्टूबर में कांग्रेस की बिहार मेें रैली करने का भी निर्णय हुआ है। 
गुजरात की तरह बिहार में भी राजनीतिक उलटफेर के बाद कांग्रेस के कई विधायकों के पार्टी छोड़ने के कयास के कारण डैमेज कंट्र्र्र्रोल को लेकर शुक्रवार को सदाकत आश्रम में केन्द्रीय नेतृत्व के प्रतिनिधियों ने पार्टी के विधायकों,प्रदेश पदाधिकारियों और जिलाध्यक्षों के साथ अलग-अलग बैठक कर उनकी राय जानी। अधिसंख्य कांग्रेसियों ने पार्टी को मजबूत करने हेतु अकेले चलने की सलाह दी। राजद से गठबंधन करने पर बराबरी के आधार पर लोकसभा और विधानसभा सीटें बांटने पर जोर दिया। कांग्रेस के 27 विधायक और पांच विधान पार्षदों को एक-एक जिला का संगठन प्रभारी बनाने और सांसदोें का दो-तीन जिलों का संगठन का प्रभारी बनाने का सुझाव दिया। आधा दर्जन विधायक विभिन्न कारणों से बैठक में नहीं आये। सदाकत आश्रम मेें अनिल शर्मा और अखिलेश प्रसाद सिंह को प्रदेश अध्यक्ष बनाने की लॉबिंग होने की भी सूचना है।
बैठक के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया से मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत में कहा कि पार्टी विधायक एकजुट हैं। विधायकों में पफूट की खबर मीडिया भर में है। पार्टी संगठन को मजबूत करने और कार्यक्रम तय करने के संबंध में लोगों की राय जानी है। उन्होंने नी​तीश कुमार के महागठबंधन से अलग होकर साम्प्रदायिक ताकतों से दोस्ती करने पर अफसोस जाहिर किया। उन्होंने कहा कि जनादेश का अपमान करने को लेकर जनता नीतीश को माफ नहीं करेगी। अगले चुनाव में हिसाब लेगी। मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत के दौरान पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक चौधरी और विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह मौजूद थे। उन्होंने राजनीतिक प्रस्ताव की जानकारी दी। 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS