ब्रेकिंग न्यूज़
मुजफ्फरपुर से रक्सौल व नरकटियागंज तक रेल परिचालन शुरू, 7 दिनों बाद सभी गाड़ियां होंगी रेगुलर.कोई भारत की तरफ आँख भी नहीं उठा सकता, हमारे पास विश्व के सबसे बहादुर सैनिक : राजनाथ सिंह.डोकलाम विवाद का सकारात्मक हल निकलेगा: राजनाथ सिंहश्रीलंका ने भारत के सामने रखा 217 रनों का लक्ष्य, अक्षर पटेल ने लिये 3 विकेटअमित शाह ने की शिवराज की तारीफ, कहा- बीमारू प्रदेश को विकास के रास्ते पर ले आयेमुजफ्फरनगर ट्रेन दुर्घटना में क्षतिग्रस्त ट्रैक पर आज रात 10 बजे तक ट्रेनों का संचालन संभव होगामुजफ्फरनगर रेल हादसाः मेरठ लाइन पर शाम 6 बजे तक ट्रेनें रद्द, कई ट्रेनों का रूट बदला गयाकई निर्दोष लोगों की जान लेनेवाला एके 47 जब्त, दीपक पासवान व मुन्ना पाठक सलाखों के पीछे
बिहार
केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री से सुमो ने की बिहार में बैंकों के सुस्त रवैये की शिकायत
By Deshwani | Publish Date: 11/8/2017 7:13:06 PM
केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री से सुमो ने की बिहार में बैंकों के सुस्त रवैये की शिकायत

पटना, (हि.स.)। उप मुख्यमंत्री एवं वित्त मंत्री सुशील कुमार मोदी ने केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री संतोष गंगवार से मिलकर बिहार में बैंकों के सुस्त रवैये की शिकायत की | साथ ही बैंकिंग सेवाओं को कारगर और प्रधानमंत्री की महात्वाकांक्षी योजनाओं को सफल बनाने के लिए अपने स्तर से बैंकों को निर्देश देने का अनुरोध किया। 

सुशील मोदी ने शुक्रवार को नयी दिल्ली में राष्ट्रपति भवन के दरबार हाल में उपराष्ट्रपति एम वैंकया नायडू के शपथग्रहण समारोह में शामिल होने के बाद केन्द्रीय वित राज्य मंत्री संतोष गंगवार से मिलकर बातचीत की। बिहार में प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना तथा स्टैंडअप इंडिया के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए और बेहतर करने की जरूरत हैं। भारत सरकार बैंकों की मानिटरिंग करें ताकि आम लोगों को बैंकिंग सेवाएं निर्धारित समय सीमा में मिले। 
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में बैंकों के सुस्त रवैये के कारण प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत जून, 2017 तक मात्र 205 खाताधारियों को 18 करोड़ 45 लाख रुपये मिल पाये हैं जबकि इस योजना के तहत लाभार्थियों को 2.5 लाख तक अनुदान मिलता है। इसी प्रकार मुद्रा योजना के अन्तर्गत इसी अवधि में 13,43, 428 उद्यमियों को 8,101 करोड़ रुपये दिए गए हैं। वहीं, स्टैंडअप इंडिया के तहत 1,726 लाभार्थियों का वित पोषण किया गया है। इसके तहत बैंक की प्रत्येक शाखा की ओर से 10 लाख से 1 करोड़ तक अनुसूचित जाति व जनजाति की किसी एक महिला को कर्ज दिया जाना है। 
मोदी ने केन्द्रीय वित राज्य मंत्री से कहा कि बिहार में प्रधानमंत्री बीमा सुरक्षा योजना व जनधन योजना के अन्तर्गत भी काफी काम करने की जरूरत है। वित राज्य मंत्री ने बिहार में प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी योजनाओं को प्रभावी बनाने में बैंकों के सहयोग का आश्वासन दिया। 
 
 
 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS