बिहार
विचाराधीन कैदी की सदर अस्पताल में मौत, बवाल, विधायक रणधीर मामले को विस में उठाएंगे
By Deshwani | Publish Date: 18/6/2017 9:28:07 PM
विचाराधीन कैदी की सदर अस्पताल में मौत, बवाल, विधायक रणधीर मामले को विस में उठाएंगे

मोतिहारी। देशावाणी न्यूज नेटवर्क।
 
केन्द्रीय कारा मोतिहारी के विचाराधीन कैदी नरेश पुरी की सदर अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गयी। इसके बाद मृतक कैदी के परिजन ने सदर अस्पताल परिसर में जमकर हंगामा किया। कैदी को दो दिनों से शौच नहीं हो रहा था। उसका पेट फुल गया था। काफी तेज बुखार भी था। सदर अस्पताल के चिकित्सकों ने उसकी एक न सुनी और उसकी मौत हो गयी।
मधुबन विधायक राणा रंधीर सिंह व सिविल सर्जन प्रशांत कुमार की पहल पर हंगामा शांत कराया गया। दंडाधिकारी के आदेश पर अस्पताल के तीन सदस्यीय टीम ने डेड बॉडी का पोस्टमॉर्टम कराया। उसके बाद उसके छोटे भाई रमेश पुरी को उसके शव को अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया गया।
जेल अधीक्षक मनोज कुमार के अनुसार नरेश पुरी पूूर्वी चम्पारण के फेनहरा थाना के मड़पा कोठी का निवासी था। रंगदारी के मामले में गिरफ‍्तार किया गया था।  उसकी तबीयत खराब होने के बाद 16 जून को उसे सदर अस्पताल इलाज के लिए भेजा गया था। फेनहरा थाने की पुलिस ने उसे इसी साल 11 मार्च को रंगदारी के मामले में गिरफ्तार किया था। उसपर रंगदारी के दो मामले दर्ज किए गये हैं। इधर परिजन विधायक का कहना है कि वह निर्दोष था। उसे गलत मामले में फंसाया गया और जेल भेज दिया गया था।
इधर परिजनों ने आरोप लगाया है कि चिकित्सकों ने इलाज में लापरवाही का आरोप लगाया। उनका कहना था कि उनका मरीज रातभर दर्द से कराहता रहा लेिकन चिकित्सकों ने उसको थोड़ी मानवता नहीं दिखलायी। तीन दिनों से भर्ती है लेकिन उसे शौच नहीं कराया जा सका। उनका पेट फुल गया था। दर्द था। तेज बुखार था। उनके अभिरक्षा में लगे पुलिसवाले भी परिजन को मिलने के लिए एक हजार रुपये की मांग कर रहे थें। बाद में 5 सौ रुपये लेकर मिलने की इजाजत दी। एसपी जितेन्द्र राणा ने कहा है कि मामले की जांच की जाएगी। सिपाही दोषी हुए तो कार्यवायी की जाएगी।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS