बिहार
मोदी जी के तीन साल निर्णायक, ईमानदारी और विकास की सरकारः राजीव रंजन
By Deshwani | Publish Date: 18/6/2017 6:10:53 PM
मोदी जी के तीन साल निर्णायक, ईमानदारी और विकास की सरकारः राजीव रंजन

पटना, (हि.स.)| भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि मोदी जी के सरकार तीन सालों में ‘सबका साथ-सबका विकास’ के तहत एक निर्णायक, ईमानदार और संवेदनशील सरकार बनकर उभरी। 

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने समाज के हर वर्ग के विकास के लिये कई योजनाएं चलाई, चाहे वह गरीबों के लिये हो, युवाओं के लिये हो, महिलाओं या किसानों के लिये । यह सारी योजनाओं की बेहतर निगरानी का कारण इसका अधिक से अधिक लोगों को इसका लाभ मिला | 
उन्होंने कहा कि मोदी सरकार पिछले तीन सालों में एक स्वच्छ सरकार के रूप में उभरी है और इस दौरान एक भी घोटाला उजागर नहीं हुआ । कांग्रेसी सरकार में बिचैलिये और दलालों की अहम भूमिका होती थी । डा0 मनमोहन जी के दस सालों की सरकार में साढ़े बारह लाख करोड़ का घपला उजागर हुआ और पता नहीं कितने फाइलें में रह गई । 
उन्होंने मोदी जी की सरकार में बिचैलियों और दलाल की भूमिका नहीं होने का दावा करते हुए कहा ई यही कारण है कि भारत का जीडीपी मनमोहन सिंह के समय में 4.8 था जो अब 7.4 हो गया है। आने वाले अगले साल यह जीडीपी 8 प्रतिशत तक पहुंचेगी। आज भी दुनिया में हिन्दुस्तान का जीडीपी सबसे अधिक है ।
उन्होंने कहा कि मोदी जी की सरकार ने बेरोजगारी और गरीबी को कम करने के लिये प्राथमिकता दी । बेरोजगारी एक महत्वपूर्ण समस्या थी जिसके लिये मुद्रा योजना के तहत 7.4 करोड़ लोगों को साढ़े चार लाख करोड रूपया ऋण दिया गया ताकि लोग अपना-अपना रोजगार कर सके । 
यह अब तक की बेरोजगारी को कम करने के लिये एक क्रांतिकारी कदम है। मोदी सरकार की मंशा है कि बेरोजगारों को रोजगार देने के लिये अधिक से अधिक मदद हो ताकि नौजवान आगे बढ़ कर काम करें । केन्द्र सरकार ने बिहार को बढ़ाने के लिये हर तरफ काम किया । ग्रामीण विद्युतीकरण और किसानों को पटवन के लिये अलग डेडीकेटेड फिडर हो इसके लिये 5686 करोड़ रूपया का प्रावधान किया जिसमें एक हजार करोड़ रूपया दिया गय , ताकि हर गांव के हर घर को बिजली मिल सके और साथ ही पटवन के लिये किसान अपनी अपनी मोटर लगा सके । 
केन्द्र के लगातार तीन साल के प्रयास कारण आज बिहार में ग्रामीण विद्युतीकरण हो गया है और अब मात्र 319 गांव बचे हैं विद्युतीकरण के लिये । बिहार सरकार को डेडिकेटेड फिडर बनाने में तेजी लाने की जरूरत है । आज किसान बिहार में बारिश आधारित खेती कर रहे हैं।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS