ब्रेकिंग न्यूज़
राज कपूर की आरके स्टूडियो में लगी आगपीएमजी ने शुभांरभ किया मोतिहारी में 'माई स्टांप' काउंटर, बनाइए अपनी तस्वीर का डाक टिकटगोलियों से थर्राया कल्याणपुर का इलाका, पुलिस व बदमाशों के बीच घंटों मुठभेड़निर्मला सीतारमण, पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान का प्रमोशन, कैबिनेट मंत्री पद की ली शपथमोदी कैबिनेट : सभी नये चेहरे राज्यमंत्री और धर्मेंन्द्र, पीयूष, निर्मला व मुख्तार को प्रमोशनआज ब्रिक्स सम्मेलन में भाग लेने चीन रवाना होंगे पीएम मोदीमंत्रिमंडल में शामिल होने वाले सांसदों ने की प्रधानमंत्री से मुलाकातमोदी कैबिनेट विस्तार पर नीतीश का बड़ा बयान, हमलोगों को नहीं है कोई जानकारी
राज्य
रोहिंग्या मुसलमानों पर सख्त रुक न अपनाएं केंद्र सरकार : माया
By Deshwani | Publish Date: 13/9/2017 1:22:45 PM
रोहिंग्या मुसलमानों पर सख्त रुक न अपनाएं केंद्र सरकार : माया

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने पड़ोसी देश म्यांमा में अशान्ति व हिंसा के कारण भारत में शरणार्थी बनकर पनाह लेने वाले हजारों अत्यन्त गरीब और असहाय रोहिंग्या मुसलमान परिवारों के प्रति संवेदना एवं सहानुभूति व्यक्त करते हुए भारत सरकार से कहा कि उनके प्रति मानवता एवं इंसानियत के नाते सख्त रवैया नहीं अपनाना चाहिए और न ही राज्यों को इसके लिए मजबूर किया जाना चाहिए।
 
मायावती ने एक बयान में कहा कि म्यांमा के सीमावर्ती राज्य में अशान्ति के कारण लाखों रोहिंग्या मुसलमानों ने बंगलादेश में शरण ली है तथा कई हजार भारत के विभिन्न राज्यों में भी शरणार्थी बनकर रह रहे हैं। उनके प्रति प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार का रवैया पूरी तरह से स्पष्ट नहीं होने के कारण असमंजस की स्थिति बनी हुई है।
 
उन्होंने कहा कि भारत सरकार को इन शरणार्थियों के प्रति मानवीय दृष्टिकोण अपना चाहिये जैसा कि भारत की परम्परा रही है। साथ ही, म्यांमा एवं बांगलादेश की सरकार से वार्ता करके रोहिंग्या मुसलमानों के मामले को सुलझाने का प्रयास करना चाहिये ताकि उनका पलायन रुक सके।
गृह मंत्रालय कह चुका है कि वह रोहिंग्या मुसलमानों को भारत में शरण नहीं देगा, बल्कि उन्हें वापस लौटा देगा। इसके साथ ही भारत-म्यांमार सीमा पर चौकसी बढ़ा दी गई है। सीमा पर सरकार ने रेड अलर्ट जारी किया है।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS