बिहार
पुलिस फायरिंग में एक की कथित मौत के जांच के आदेश ,धारा 144 लागू
By Deshwani | Publish Date: 20/10/2017 8:30:06 PM
पुलिस फायरिंग में एक की कथित मौत के जांच के आदेश ,धारा 144 लागू

पटना ( हि स ) । बिहार के समस्तीपुर जिले के ताजपुर थाना क्षेत्र में उग्र प्रदर्शकारियों पर शुक्रवार को पुलिस फायरिंग मे कथित तौर पर एक व्यक्ति की मौत और पांच अन्य के घायल होने से उत्पन्न स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए पूरे थाना क्षेत्र में धारा 144 लागू कर दी गई तथा मुख्यमंत्री ने घटना की जांच के आदेश दिए। 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ताजपुर थाना क्षेत्र में हुई घटना को दुखद बताया और पूरे प्रकरण का कड़ा संज्ञान लेते हुए राज्य के पुलिस महानिदेशक पी की ठाकुर से घटना की जानकारी ली 1 मुख्यमंत्री ने तिरहुत प्रमण्डल के आयुक्त और तिरहुत रेंज के पुलिस उप महानिरीक्षक को स्थल पर कैंप करने का आदेश भी दिया और इस मामले की जांच कर उन्हें रिपोर्ट सौंपने को कहा । नीतीश कुमार ने वरिष्ट अधिकारियों को स्थिति सामान्य होने तक घटना स्थल पर कैंप करने आदेश दिया। 
इस बीच अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक एस के सिंघल ने यहाँ बताया कि ताजपुर थाना क्षेत्रे में तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए धारा 144 लागू कर दी गई तथा बड़ी संख्या में बिहार सैन्य पुलिस बाल और सीमा सुरक्षाबल के सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है 1 किसी भी स्थिति से निपटने के लिए मुजफ्फरपुर तथा दरभंगा जिले से अतिरिक्त पुलिस बलों को समस्तीपुर भेजा गया है। 
उन्होंने बताया कि भीड़ को नियंत्रण में करने के लिए पुलिस ने पहले बल का प्रयोग किया उसके बाद आत्मरक्षार्थ हवा में गोलियां चलाईं 1 उन्होंने कहा कि भीड़ की तरफ से भी गोली चलाए जाने की सूचना है 1 इस घटना में उन्होंने बताया कि एक व्यक्ति की मौत हो गई 1 ए. के सिंघल ने कहा कि दवा व्यवसाई की हत्या के बाद पुलिस ने कार्यवाई की थी1 
घटनास्थल पर कैंप कर रहे समस्तीपुर के पुलिस अधीक्षक दीपक रंजन ने कहा कि पुलिस फायरिंग में एक व्यक्ति की मौत की खबर कुछ असामाजिक त्तात्वों द्वारा फैलाई जा रही है 1 उन्होंने कहा कि उपद्रवियों की हिंसक कार्यवाइयों में कुछ पुलिसकर्मी घायल हो गये 1 उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने ताजपुर थाना परिसर में आगजनी की तथा कई वाहनों में आग लगा दिया जिससे पुलिस प्रशासन को भारी नुक्सान उठाना पड़ा है । 
उल्लेखनीय है कि दो दिन पूर्व एक दवा व्यवसाई की ताजपुर थाना क्षेत्र में हुई ह्त्या तथा इसी थाना क्षेत्र में कुछ दिन पूर्व एक लड़की के हुए अपहरण और उसके अभी तक सुराग नहीं मिलने से आक्रोशित लोगों ने शुक्रवार की सुबह से ही पुलिस की निष्क्रियता के खिलाफ तथा अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ताजपुर थाना का घेराव किया और राष्ट्रीय उच्च मार्ग २८ को जाम कर दिया था । 
समस्तीपुर में आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रदर्शन कर रहे उग्र लोगों को समझाने बुझाने गई पुलिस को भी भीड़ ने अपना निशाना बनाया जिसमें कुछ पुलिसकर्मियों को चोटें आईं 1 जवाबी कार्यवाई में पुलिस को हल्का बाल प्रयोग करते हुए भीड़ को तितर- बितर करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा । 
सूत्रों ने बताया कि बाद में प्रदर्शनकारियों ने ताजपुर थाना परिसर पर हमला किया और वहां खड़े वाहनों में आग लगा दी 1 हालात पर नियंत्रण करने और आत्मरक्षार्थ पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी 1 सूत्रों ने बताया कि इसी दौरान भीड़ की तरफ से भी गोलियां चलीं 1 फायरिंग की इस घटना में दूरसंचार क्म्प्निम के कर्मचारी जितेन्द्र कुमार भंडारी नामक एक व्यक्ति की मौत हो गई और पांच अन्य घायल हो गए । घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती किया गया जहां एक की स्थित गम्भीर बनी हुई थी । 
इस बीच पुलिस महानिदेशक पी के ठाकुर ने राज्य पुलिस मुख्यालय में एक आपात बैठक कर स्थित की समीक्षा की और वरिष्ट अधिकारों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया । 
समस्तीपुर की घटना पर दुःख प्रकट करते हुए राष्ट्रीय जनता दल के प्रवक्ता शक्ति यादव ने पूरे राज्य में विधि व्यवस्था के अनियन्त्रित होने का आरोप लगाया । उन्होंने कहा कि समस्तीपुर में क़ानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो गई है । उन्होंने कहा कि जनादेश का अपमान कर अपना नैतिक पतन कर चुके मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का सरकार पर से नियंत्रण समाप्त ही गया है और स्थिति बेकाबू होती जा रही है । 
भाकपा-माले के पोलित ब्यूरो सदस्य धीरेंद्र झा ने कहा कि नीतीश सरकार जनता के सब्र के टूटते बांध को लाठी गोली से दबा रही है जो यह घोर निंदनीय है1 उन्होंने कहा कि समस्तीपुर के ताजपुर में 16 साल की लड़की के अपहरण के खिलाफ आम लोगों का लगातार आंदोलन चल रहा है, लेकिन प्रशासन अपराधियों-अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार करने की बजाय आन्दोलनकरियों के दमन पर उतारू है । 
उन्होंने कहा कि इसी दरम्यान एक व्यवसायी की हत्या दिन दहाड़े हुई, लेकिन प्रशासन सोता रहा और जनता का गुस्सा जब सड़कों पर फूटा तो पुलिस ने फायरिंग कर एक की जान ले ली और दर्ज़नो को घायल कर दिया । सरकार,थाना-पुलिस के अपराधियों से सांठ गाँठ होने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि . अपहृत लड़की की बरामदगी समस्तीपुर पुलिस अभी तक नहीं कर पाई है , जबकि परिजन और ग्रामीणों ने अपराधियों से जूझते हुए घायल होकर भी दो अपराधियों को पकड़ा था और मोटर साइकिल जब्त की थी 1 
उन्हों कहा कि भाकपा माले सचिव कामरेड कुणाल,विधायक सुदामा प्रसाद समेत पांच सदसीय टीम घटनास्थल के लिए रवाना हो गई है । 
समस्तीपुर में हुई घटना के बाद जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष एवं सरंक्षक तथा वर्तमान सासंद पप्पू यादव ने ट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तथा उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी पर निशाना साधते हुए लिखा कि 'ऐसे हालात में कौन निवेशक बिहार में आएंगे? उन्होंने लिखा कि क़ानून व्यवस्था की यह स्थिति राज्य के सुशां का दावे की पोल खुद ही खोल देता है । 
 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS