राष्ट्रीय
बोफोर्स का सच बताए कांग्रेसः ईरानी
By Deshwani | Publish Date: 18/10/2017 6:45:37 PM
बोफोर्स का सच बताए कांग्रेसः ईरानी

नई दिल्ली, (हि.स.)। बोफोर्स घोटाला मामले को लेकर भाजपा ने एक बार फिर कांग्रेस की घेरेबंदी तेज कर दी है। एक समाचार चैनल पर माइकल हर्शमन नामक एक विदेशी नागरिक के साक्षात्कार को आधार बना कर सत्तारूढ़ दल ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा है कि देश बोफोर्स घोटाले का सच जानना चाहता है| कांग्रेस को इसका जवाब देना चाहिए। इतना ही नहीं, पार्टी ने यह भी कहा कि कांग्रेस का इतिहास रहा है कि जो भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाता है, वह उसका मुंह बंद करने के लिए हर पैंतरा आजमाती है।

भाजपा मुख्यालय में बुधवार को आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में वरिष्ठ नेता व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने एक निजी समाचार चैनल में दिखाए गए एक साक्षात्कार का हवाला देते हुए कहा कि दो-तीन दिन से बोफोर्स से संबंधित खुलासे हो रहे हैं। माइकल हर्शमन ने कई गंभीर और चौंकाऊ खुलासे किए हैं। 

हर्शमन ने चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा है कि उस वक्त के वित्त मंत्री वीपी सिंह ने उन्हें संपर्क कर कहा कि मनी लांड्रिंग के कारण जो गड़बड़िय़ां हो रही हैं उनकी जांच वह विदेशी एजेंसी से कराना चाहते हैं। हर्शमन ने जब मामले की जांच की तो उनका ध्यान एक पाकिस्तानी नागरिक द्वारा 1972 में स्थापित इंटरनेशनल बैंक फॉर क्रेडिट एंड कामर्स (बीसीसीआई बैंक) की ओर गया। जब बैंक के खाते की जांच की गई तो हर्शमन ने पाया कि एक आर्म्ड डील से जुड़ी रकम स्विस बैंक खाते में जा रही है।

ईरानी ने बताया कि माइकल ने इस बारे में वीपी सिंह को बताया तो उन्होंने जांच जारी रखने को कहा। किंतु इसी बीच वीपी सिंह को वित्तमंत्री पद से हटा दिया गया। माइकल ने इस बारे स्विस बैंक के खाते में हस्तांतरित की जा रही रकम के बारे में सीबीआई और भारत सरकार को जानकारी भी दी। इतना ही नहीं, हर्शमन ने बताया कि इसके बाद हथियार विक्रेता अदनान खगोशी के आमंत्रणऩ पर वह एक बार उससे मिले। उनसे कहा गया कि वीपी सिंह का फर्जी बैंक खाता बनाकर उनको कलंकित करें।

केंद्रीय मंत्री ने माइकल के साक्षात्कार का हवाला देते हुए कहा कि इस बीच जांच के कारण बीसीसीआई की मुंबई शाखा सीबीआई ने छापा मार कर सील कर दी। इसकी जानकारी तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी को हुई। उनसे एक पाकिस्तानी नागरिक ने ब्रीफकेस के साथ संपर्क किया और 48 घंटे में बैंक की शाखा दोबारा खुल गई।

भाजपा नेता ने कहा कि प्रश्न य़े उठता है कि राजीव से मिलने वाला पाकिस्तानी नागरिक कौन था और ब्रीफकेस में क्या था? इसके अलावा माइकल हर्शमन को धमकी देने वाला कौन था ? ईरानी ने कहा कि कांग्रेस को जवाब देना चाहिए कि राजीव के नजदीकी वह कौन लोग थे जो वीपी सिंह को फर्जी मामले में फंसाना चाह रहे थे।

COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS