अंतरराष्ट्रीय
आतंकवाद के कृत्य को उचित ठहराना नासमझी : सुषमा
By Deshwani | Publish Date: 22/9/2017 12:19:37 PM
आतंकवाद के कृत्य को उचित ठहराना नासमझी : सुषमा

संयुक्त राष्ट्र। आतंकवाद के सभी स्वरूपों की निंदा करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शंघाई सहयोग संगठन एसीसीओ के अपने समकक्षों से कहा है कि आतंकवाद के किसी कृत्य को कभी उचित नहीं ठहराया जा सकता। संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से इतर एससीओ के विदेश मंत्रियों की बैठक को संबोधित करते हुए सुषमा ने सदस्य देशों के बीच संपर्क की जरूरत पर भी जोर दिया।
 
सुषमा ने कहा, भारत सभी तरह के आतंकवाद और उसके स्वरूपों की निंदा करता है। आतंकवाद के किसी कृत्य को किसी भी तरह से उचित नहीं ठहराया जा सकता। उन्होंने कहा, एससीओ देशों के साथ संपर्क भारत की प्राथमिकता है। हम हमारे समाजों के बीच सहयोग और विश्वास का मार्ग प्रशस्त करने के लिए संपर्क चाहते हैं। सवालों के जवाब देते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि समग्रता, पारदर्शिता और स्थिरता इसके लिए महत्वपूर्ण है।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS