राष्ट्रीय
प्रद्युम्न हत्याकांड के आरोपी कंडक्टर अशोक का हुआ पोटेंसी टेस्ट
By Deshwani | Publish Date: 13/9/2017 1:15:50 PM
प्रद्युम्न हत्याकांड के आरोपी कंडक्टर अशोक का हुआ पोटेंसी टेस्ट

गुरुग्राम। प्रद्युम्न हत्याकांड की जांच में जुटी गुरुग्राम पुलिस कोई कोताही नहीं बरतना चाहती है। पुलिस ने सोमवार को बस कंडक्टर अशोक का पोटेंसी टेस्ट कराया। इसमें देखा गया कि कंडक्टर में यौन क्षमता है कि नहीं। विश्वस्त सूत्रों ने इसकी पुष्टि की। रिपोर्ट में अशोक के अंदर यौन क्षमता पाई गई है। पुलिस ने अशोक का पोटेंसी टेस्ट इसलिए कराया क्यों केस में पाक्सो एक्ट की धाराएं भी जुड़ी हैं। ऐसे में कई बार बचाव पक्ष बाद में आरोपी इसी आधार पर बरी कराने की कोशिश करता है। 
गौरतलब हो कि कंडक्टर अशोक ने बाथरूम में गंदी हरकत करने की बात कही थी। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यौन शोषण की पुष्टि नहीं हुई। पोस्टमार्टम करने वाले डॉ. दीपक माथुर ने इसकी दोबारा पुष्टि की। पोस्टमार्टम में सामने आया था कि प्रद्युम्न की हत्या धारदार हथियार से की गई। एक अभिभावक ने कंडक्टर की शर्ट पर खून होने की भी पुष्टि की है।
प्रद्युम्न मर्डर:पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर ने कहा-नहीं हुआ कुकर्म
प्रद्युम्न की हत्या के बाद स्कूल में अफरातफरी मच गई थी और स्कूल प्रशासन द्वारा देरी की गई थी। इसका खुलासा रेयान स्कूल के अभिभावक सुभाष गर्ग ने किया है। वारदात के समय वह स्कूल में मौजूद थे। वह शुक्रवार को स्कूल में अपने बच्चे की फीस जमा कराने के लिए गए थे। उन्होंने खुलासा किया है कि प्रद्युम्न की हत्या के बाद स्कूल में अफरातफरी मच गई थी और पूरे प्रशासनिक फ्लोर में शोर शराबा शुरू हो गया था। बच्चे को बाथरूम से उठाने के बाद उस पर कपड़ा डालकर स्कूल के मेडिकल रूम में ले जाया गया। उसके बाद वहां पर फर्स्ट एड देने के बाद बच्चे को आनन-फानन में गाड़ी से अस्पताल ले जाया गया था। बच्चे के साथ दो स्कूल टीचर भी आई गई थी। उसके बाद स्कूल के रिसेप्शन से बच्चे के पिता को फोन किया गया। 
अभिभावक सुभाष गर्ग ने बताया कि बाथरूम के बाहर खून फैला हुआ था। थोड़ी देर बाद आया तो देखा कि बाथरूम के बाहर फैला खून साफ हो चुका था। उसके बाद बाथरूम का गेट बंद करवा दिया गया था। ताकि कोई अंदर न घुस सके। बस कंडेक्टर अशोक के कमीज पर खून लगा हुआ था जिसे मैंने धोने से मना कर दिया था। लेकिन अशोक ने भी कुछ देर बाद अपनी कमीज धोकर आ गया था।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS