राष्ट्रीय
भाजपा का कोविंद का नाम तय करना एकतरफा फैसला : कांग्रेस
By Deshwani | Publish Date: 19/6/2017 5:24:12 PM
भाजपा का कोविंद का नाम तय करना एकतरफा फैसला : कांग्रेस

  नई दिल्ली, (हि.स.)। भाजपा की तरफ से बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने को कांग्रेस ने एकतरफा फैसला करार दिया है।

 

राज्यसभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने संवाददाता सम्मेलन में भाजपा पर राष्ट्रपति उम्मीदवार के ऐलान को लेकर आरोप लगाया कि उन्होंने फैसला करने के बाद हमें जानकारी दी है। 

 

उन्होंने कहा, ‘जब हमसे मुलाकात की, तो हमें कहा था कि आम सहमति के लिए किसी भी घोषणा से पूर्व आपको सूचित किया जाएगा, लेकिन उन्होंने निर्णय के बाद हमें सूचित किया।‘

 

हालांकि कोविंद के नाम की घोषणा करते हुए अमित शाह ने कहा कांग्रेस आलाकमान को कोविंद के नाम की जानकारी दी गई थी।

 

गुलाम नबी आजाद ने कहा, भाजपा ने राम नाथ कोविंद के नाम पर कोई चर्चा नहीं की। उनका फैसला एकतरफा था। कोविंद को समर्थन देने न देने के सवाल पर उन्होंने कहा, पार्टी विपक्ष की दूसरी पार्टियों से बात करके अपना स्टैंड क्लियर करेगी।

 

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर कांग्रेस 22 जून को विपक्ष के साथ बैठक कर सकती है।

 

इससे पहले सोमवार दोपहर रामनाथ कोविंद के नाम की घोषणा करते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि नाम फाइनल करने से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह से बात हुई थी। उन्होंने दावा किया कि स्वयं प्रधानमंत्री ने कोविंद के नाम पर सोनिया गांधी से बात की थी।

 

 

दलित चेहरे से दिक्कत नहीं, लेकिन गैर-राजनीतिक चेहरा होना चाहिए था : मायावती

रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने पर बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि दलित चेहरे से दिक्कत नहीं, लेकिन गैर-राजनीतिक चेहरा होना चाहिए था।

 

आरएसएस की दलित शाखा के प्रमुख को राष्ट्रपति उम्मदवार बनाना सीधा-सीधा राजनीतिक टकराव है : सीताराम येचुरी

 मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के महासचिव सीताराम येचुरी ने भाजाप पर राष्ट्रपति उम्मीदवार के ऐलान में भी राजनीतिक टकराव का आरोप लगाया है। येचुरी ने कहा, रामनाथ कोविंद जी आरएसएस की दलित शाखा के प्रमुख थे, ये सीधा-सीधा राजनीतिक टकराव है। विपक्षी पार्टियां 22 जून को बैठक करेंगी। आजाद हिंदुस्तान के इतिहास में एक ही बार ऐसा हुआ है कि जब राष्ट्रपति निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं।

 

आंध्र के सीएम चंद्रबाबू नायडू व तेलंगाना के सीएम चन्द्रशेखर राव ने राम नाथ कोविंद को दिया समर्थन

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू और तेलंगाना के मुख्यमंत्री चन्द्रशेखर राव ने राजग के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार राम नाथ कोविंद को समर्थन दिया है| तेलंगाना के केसीआर ने एक दलित नेता को राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाने के राजग के फैसले का स्वागत भी किया है|

COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS