राष्ट्रीय
पासवान ने झारखंड में भूख से मौत मामले की जांच का दिया आदेश
By Deshwani | Publish Date: 18/10/2017 6:20:32 PM
पासवान ने झारखंड में भूख से मौत मामले की जांच का दिया आदेश

फाइल फोटो।

नई दिल्ली, (हि.स.)। झारखंड में कथित भूख से बच्ची की मौत मामले को लेकर केंद्र सरकार भी हरकत में आ गई है। केंद्रीय खाद्य व उपभोक्ता संरक्षण मंत्री रामविलास पासवान ने राज्य सरकार से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी है| साथ ही इसकी जांच के आदेश भी दे दिये हैं। इससे पहले खबर आ रही थी कि कोयली देवी की बेटी संतोषी की मौत भूख से नहीं बल्कि मलेरिया से हुई थी और रिपोर्ट बदलने से यह गलतफहमी पैदा हुई।

 

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने बुधवार को एक बयान जारी कर कहा कि झारखंड में संतोषी नाम की बच्ची की भूख से मौत को लेकर अख़बारों में प्रकाशित खबरें पढ़ कर बहुत दुःख हुआ। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार इस घटना की जांच के लिए शीघ्र ही केन्द्रीय टीम भी भेज रही है। राज्य सरकार से भी इस सम्बन्ध में रिपोर्ट भेजने के लिय कहा गया है। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ मे मैंने खाद्य सचिव, भारत सरकार, रविकान्त से इस बात की जाँच करने का निर्देश दिया है। राज्य सरकार के स्तर पर अनाज नहीं मिलने पर खाद्य सुरक्षा भत्ता दिया जाना चाहिए था और दोषी अधिकारियों के विरुद्ध अविलम्ब कार्रवाई की जानी चाहिए।

 

उन्होंने कहा कि झारखण्ड में खाद्य सुरक्षा कानून लागू होने के बाद भी तीन माह तक लाभार्थी को राशन नहीं मिलना चिंता का विषय है। इस मामले में केंद्र सरकार से झारखण्ड राज्य को प्रति माह अनाज का आबंटन किया गया है। राज्य सरकार ने भी उसका उठाव एफसीआई से समय से कर लिया है। पासवान ने कहा कि कानून में इस बात का प्रावधान है कि राशन नहीं मिलने की स्थिति में लाभार्थी को न्यूनतम समर्थक मूल्य (एमएसपी) का सवा गुना खाद्य सुरक्षा भत्ता दिया जाये। 

 

उल्लेखनीय है कि झारखंड के सिमडेगा जिला के अंतर्गत आने वाले कारामाटी गांव में गत 28 सितम्बर को 11 वर्षीय संतोषी की मौत हो गई थी। मीडिया में इस संबंध में खबर प्रकाशित हुई कि संतोषी ने 8 दिन से खाना नहीं खाया था। खबरों के अनुसार मृतका की मां ने कहा कि स्कूल की छुट्टी होने के कारण उसकी बच्ची को खाना नहीं मिल पा रहा था जिससे वह बीमार पड़ गई| 

COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS