झारखंड
मिशन-2019 में जुटा झामुमो, सोशल मीडिया पर भी हुआ सक्रिय
By Deshwani | Publish Date: 10/10/2017 5:30:22 PM
मिशन-2019 में जुटा झामुमो, सोशल मीडिया पर भी हुआ सक्रिय

रांची, (हि.स.)। मिशन-2019 की तैयारियों में लगा झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) पंचायत से लेकर जिला मुख्यालयों तक धरना-प्रदर्शन तो कर ही रहा है, आज के आधुनिक दौर के हिसाब से वह राज्य के अन्य क्षेत्रीय दलों से काफी आगे है । झामुमो सोशल मीडिया पर भी उतना ही सक्रिय है जितना वह परम्परागत तरीके से ।
सोशल मीडिया का काम देख रहे अजय वर्मा ने बताया कि आज डिजिटल युग में धरना-प्रदर्शन के साथ-साथ ज्यादा से ज्यादा युवाओं को साथ जोड़ने के लिए सोशल मीडिया एक कारगर हथियार है । आज सभी बड़ी पार्टियां इसके सहारे अपनी नैया पार कराने में लगी है तो हम क्यों पीछे रहें । उन्होंने कहा कि इसके लिए हमारी पूरी टीम दिन-रात काम कर रही है । 
राष्ट्रीय अध्यक्ष शिबू सोरेन और कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन के बारे में राज्य की जनता को एक-एक जानकारी से अवगत कराने के लिए ही हमने सोशल मीडिया का सहारा लिया है । इसकी बदौलत हम कम समय में ही ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ जुड़ते हैं । उन्होंने कहा कि जिस तरह से हमारी फ्रेंड फॉलोइंग बढ़ रही है, यह हमारे लिए अच्छे संकेत का परिचायक है। सोशल मीडिया ने राजनीति में प्रचार का तरीका बदल दिया है।
इस बाबत महासचिव विनोद पाण्डेय ने कहा कि सोशल मीडिया ट्वीटर, फेसबुक व यू ट्यूब ने अधिकारियों व नेताओं को ज्यादा जवाबदेह बना दिया है । वर्तमान में सोशल मीडिया के महत्व को देखते हुए ही झामुमो राज्यभर में सोशल मीडिया विभाग बनाया है । इसका उद्देश्य विपक्षी पार्टियों के दुष्प्रचार को रोकना भी है । पार्टी के महासचिव ने कहा कि सोशल मीडिया की हर स्तर पर तेजी से अपनी बात पहुंचाने में अहम भूमिका है । भाजपा व अन्य पार्टियों के दुष्प्रचार को रोकने के लिए सोशल मीडिया सक्रिय होकर काम कर रहा है ।
उन्होंने कहा कि कहा कि सोशल मीडिया राजनीतिज्ञों, पार्टियों और लोगों को नजदीक लाता है । राज्य सरकार हर मोर्चे पर विफल है, लेकिन सिर्फ सोशल मीडिया पर सक्रिय है । इसलिए हमें सोशल मीडिया को सक्रिय बनाया । उन्होंने कहा कि अखबार ओैर मीडिया चैनल अब बिकाऊ हो गये हैं। सब के सब भाजपा सरकार के गुलाम बन बैठे हैं, इसलिये देखने को हमेशा मिल रहा है कि झारखण्ड मुक्ति मोर्चा द्वारा जनता के बीच किये जा रहे कार्यो को मीडिया में दबा दिया जा रहा है। हमारे नेता की आवाज ओैर कार्यो को दबा दिया जाता है । इसलिए पार्टी के तमाम नेताओं और प्रवक्ताओं को भी सोशल मीडिया के जरिये अपनी बात रखनी चाहिए ।
राजधानी रांची के अलावा अन्य बड़े शहरों को छोड़कर शिबू सोरेन और हेमंत सोरेन की पब्लिक मीटिंग को जनता तक पहुंचाने के लिए झामुमो का सोशल मीडिया सेल लगातार प्रयासरत है । पेट्रोल-डीजल की बढ़ी हुई कीमत को लेकर राज्यव्यापी धरना-प्रदर्शन आज जन-जन तक पहुंचाने का काम झामुमो का सोशल मीडिया सेल ही कर रहा है । हाल के हेमंत सोरेन की प्रेस वार्ताओं पर गौर करें तो चाहे वह मिशन-2019 का आगाज हो या फिर पेट्रोल-डीजल की कीमत या सीएनटी-एसपीटी या फिर भूमि अधिग्रहण कानून, इन सब बातों को जनता तक पहुंचाने के लिए जनभागीदारी के साथ-साथ सोशल मीडिया ने अपनी सक्रियता दिखाकर राज्य में सत्तासीन भाजपा के लिए परेशान खड़ी कर दी है ।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS