झारखंड
रंजीत मिश्रा और मो मुबारक को पुलिस ने दबोचा
By Deshwani | Publish Date: 18/9/2017 7:18:43 PM
रंजीत मिश्रा और मो मुबारक को पुलिस ने दबोचा

रामगढ़। एनजीओ एंटी करप्शन एंड क्राइम कंट्रोल कमेटी के झारखंड प्रदेश उपाध्यक्ष  रंजीत मिश्रा और मो मुबारक को पुलिस ने नाकेबंदी कर धर बदोचा है। दोनों पर नावाडीह पंचायत के बड़की बांध निवासी रोहित महतो को अगवा करने और रंगदारी मांगने का आरोप है। जानकारी के अनुसार रोहित को शनिवार की रात करीब 8 बजे घर से अगवा किया गया था। 

 
बताया जा रहा है के रोहित को अगवा करने से पूर्व उससे 50 हजार रुपये की रंगदारी मांगी गयी थी। रंगदारी नहीं देने के बाद रोहित को घर से उठाकर अगवा किया गया। आरोप है कि रंजीत मिश्रा अपने सहयोगियों के साथ मिलकर रोहित महतो को अगवा किया था. जानकारी यह भी है कि रंजीत मिश्रा ने अपनी कार में अवैध तरीके से पुलिस सायरन लगा रखा था। 
 
अगवा रोहित महतो को खोजने और रंजीत मिश्रा व मो मुबारक की गिरफ्तारी के लिए शनिवार को कई थानों की पुलिस रातभर परेशान रही। संभावित स्थानों की नाकेबंदी कर रात भर पुलिस वाहनों की चेकिंग करती रही। रविवार को शाम 4 बजे रामगढ़ शहर के बिजुलिया से रंजीत मिश्रा और मो मुबारक को गिरफ्तार किया गया। 
दोनों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने रोहित महतो को भी बरामद कर लिया है। बताया गया कि एंटी करप्शन एंड क्राइम कंट्रोल कमेटी के नाम पर रामगढ़ जिला में लोगों को डरा धमकाकर रंजीत मिश्रा अपने सहयोगियों के साथ मिलकर अवैध वसूली कर रहा था. रोब जमाने के लिए रंजीत मिश्रा ने अपनी कार में अवैध तरीके से पुलिस साइरन लगा रखी थी। 
 
ये भी बताया जा रहा है कि ये लोग मीडिया से भी जुड़े हैं। हाल के दिनों में एंटी करप्शन संस्था के नाम पर लायंस हाल में एक कार्यक्रम का भी आयोजन किया था। इसमें जिले के कई वरीय पुलिस ऑफिसर भी शामिल हुए थे। कार्यक्रम के नाम पर रंजीत मिश्रा सहित अन्य लोग अवैध तरीके से पुलिस के नाम पर उगाही भी की थी। राशि नहीं देने वालों के खिलाफ ये लोग अखबारों में बयान भी दिया था। एंटी करप्सन से जुड़े कुछ लोग जिले में सक्रिय आपराधिक संगठन से भी जुड़े हुए हैं।
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS