ब्रेकिंग न्यूज़
मुजफ्फरपुर से रक्सौल व नरकटियागंज तक रेल परिचालन शुरू, 7 दिनों बाद सभी गाड़ियां होंगी रेगुलर.कोई भारत की तरफ आँख भी नहीं उठा सकता, हमारे पास विश्व के सबसे बहादुर सैनिक : राजनाथ सिंह.डोकलाम विवाद का सकारात्मक हल निकलेगा: राजनाथ सिंहश्रीलंका ने भारत के सामने रखा 217 रनों का लक्ष्य, अक्षर पटेल ने लिये 3 विकेटअमित शाह ने की शिवराज की तारीफ, कहा- बीमारू प्रदेश को विकास के रास्ते पर ले आयेमुजफ्फरनगर ट्रेन दुर्घटना में क्षतिग्रस्त ट्रैक पर आज रात 10 बजे तक ट्रेनों का संचालन संभव होगामुजफ्फरनगर रेल हादसाः मेरठ लाइन पर शाम 6 बजे तक ट्रेनें रद्द, कई ट्रेनों का रूट बदला गयाकई निर्दोष लोगों की जान लेनेवाला एके 47 जब्त, दीपक पासवान व मुन्ना पाठक सलाखों के पीछे
बिज़नेस
केंद्र बनाए किंगफिशर की जांच के लिए समिति : संसदीय समिति
By Deshwani | Publish Date: 13/8/2017 2:11:09 PM
केंद्र बनाए किंगफिशर की जांच के लिए समिति : संसदीय समिति

 नई दिल्ली, (हि.स.)। संसदीय स्थायी समिति ने केंद्र सरकार को दिवालिया हो चुकी विमान सेवा कंपनी किंगफिशर पर ‘बकाया बढ़ने देने’की जिम्मेदारी तय की जांच के समिति बनाने की सलाह दी है। जिसकी जिम्मेदारी भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) को सौंपी गई है।

केंद्र ने परिवहन, पर्यटन एवं संस्कृति पर संसद की स्थायी समिति को बताया कि जांच के समिति की अध्यक्षता एक वरिष्ठ अधिकारी को सौंपी गई है। जो ये जांच करेंगे कि किंगफिशर के पास बकाया बढ़ने देने के लिए कौन से अधिकारी जिम्मेदार हैं और सुझाव देगी ताकि भविष्य में इस तरह की घटनायें दोहराई न जा सकें। 
समिति को दी गई जानकारी के अनुसार, प्राधिकरण के सभी क्षेत्रीय मुख्यालयों और हवाई अड्डों को निर्देश दिये गये हैं कि वे भविष्य में इस तरह के मामले की पुनरावृत्ति रोकने के उपाय करें। 
आंतरिक समिति की रिपोर्ट आने के बाद सरकार ने इस मामले में आगे कार्रवाई करने का समिति को आश्वासन भी दिया है। संसदीय समिति ने सरकार से कहा, ‘आंतरिक समिति की जांच में दोषी पाये गये जवाबदेह अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई हो।‘
उल्लेखनीय है कि किंगफिशर पर 31 दिसंबर 2016 तक एएआई का 294.69 करोड़ रुपये बकाया था जिसे प्राधिकरण के बही खातों में बट्टे खाते में डाला जा चुका है। 
 
COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS