बिहार
सदर अस्पताल: लापरवाही ने ली महिला की जान, शव को अस्पताल गेट पर रख हंगामा
By Deshwani | Publish Date: 13/1/2018 9:03:25 PM
सदर अस्पताल: लापरवाही ने ली महिला की जान, शव को अस्पताल गेट पर रख हंगामा

- डॉक्टर की बर्खास्तगी और मुआवजा की मांग

मोतिहारी। देशवाणी न्यूज नेटवर्क


जिला के सदर अस्पताल की व्यवस्था सुधरने का नाम नहीं ले रही है। कभी चिकित्सक एवं कर्मियों की लापरवाही से मरीज की जान चली जा रही है। तो कभी अस्पताल में संसाधनों के अभाव के कारण मरीज दम तोड़ देते हैं। ऐसे ही प्रसव के बाद लगातार हो रहे रक्तस्राव के कारण हरसिद्धि पीएचसी से रेफर होकर सदर अस्पताल आयी एक महिला की मौत हो गयी। इसके बाद मृतका के परिजनों के साथ स्थानीय लोगों ने शव को अस्पताल के गेट पर रखकर हंगामा किया। डॉक्टर की बर्खास्तगी और मुआवजा के लिए बिहार नवयुवक सेना मोतिहारी के जिला अध्यक्ष विशाल प्रताप सिंह और जिला संयोजक टिंकू श्रीवास्तव के नेतृत्व में प्रदर्शन और नारेबाजी की। बताया जाता है कि पकड़िया गांव के रहने वाले राजेश्वर कुमार की पत्नी शम्भा देवी को प्रसव पीड़ा होने पर स्थानीय हरसिद्धि पीएचसी में इलाज के लिए लाया गया। जहां उसने एक बच्चे को जन्म दिया। लेकिन अस्पताल की नर्सों की लापरवाही के कारण शम्भा देवी को रक्तस्राव होने लगा, जो रुक नहीं रहा था। लिहाजा, उसे सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया। जहां ऑक्सीजन की कमी के कारण खून चढ़ाने के दौरान ही शम्भा देवी की मौत हो गई। इसके बाद परिजन आक्रोशित हो गए और मृतका के शव को अस्पताल के गेट पर रखकर हंगामा करने लगे। इन्हें स्थानीय लोगों का साथ भी मिल गया। मृतका के परिजन शम्भा की मौत का कारण सदर अस्पताल की लापरवाही को बता रहे हैं। प्रदर्शन में छात्र जिला उपाध्यक्ष धनिक लाल यादव, आशुतोष यादव, राहुल पासवान, जंगली खान, रोहित गुप्ता आदि शामिल थे।

COPYRIGHT @ 2016 DESHWANI. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS